अच्छी गुणवत्ता वाले पार्टिकल बोर्ड हमेशा बाजार के लिए पसंदीदा होते हैं

person access_time   5 Min Read

ग्रामीण आवास और काॅर्पोरेट आफिस सेगमेंट से आने वाली एक अच्छी मांग के कारण 2019 पार्टिकल बोर्ड उद्योग के लिए बढ़िया और बेहतर साबित हो सकता है। उद्योग के रुझान यह भी दर्शाते हैं कि उपयोगकर्ता अच्छी गुणवत्ता वाले पार्टिकल बोर्ड के लिए निरंतर-वास्तविक कीमत का भुगतान करने के लिए तैयार होते हैं क्योंकि उच्च गुणवत्ता वाले बोर्ड की मांग-आपूर्ति में काफी अंतर है, इसलिए उत्पादकों को प्राइस वाॅर में जाने के बजाय गुणवत्ता पर ध्यान देना चाहिए।

भारतीय वुड पैनल उद्योग और बाजार का अवलोकन, प्लाइवुड और एमडीएफ के परिदृश्य की तुलना में गुणवत्तापूर्ण पार्टिकल बोर्ड के लिए उज्ज्वल संभावना दिखता हैं। फर्नीचर बनाने में पार्टिकल बोर्ड के उपयोग और सामर्थ्य के साथ सहूलियत इतना अच्छा है कि यह सरकारी क्षेत्र, रेडीमेड फर्नीचर, कमर्शियल संस्थान, बजट हाउसिंग, ई-कॉमर्स फर्नीचर सेगमेंट, किफायती फर्नीचर केटेगरी आदि में इस सामग्री की मांग बहुत ज्यादा है। यह भी पाया गया है कि 2018 में पार्टिकल बोर्ड उद्योग मजबूत हुआ क्योंकि पिछले साल इसमें ज्यादा क्षमता वृद्धि नहीं हुई। जबकि, अन्य वुड पैनल उत्पाद जैसे प्लाइवुड, एमडीएफ, आदि ने भारी उत्पादन क्षमता विस्तार किया। भारत के सबसे बड़े मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट में अव्यवस्था ने अच्छी गुणवत्ता वाले वुड बेस्ड बोर्ड उत्पादकों के लिए भी कुछ जगह बनाई है।

अधिकांश भारतीय पार्टिकल बोर्ड के प्लांट प्रतिदिन 180 से 250 सीबीएम क्षमता के अनुरूप हैं क्योंकि ऐसे प्लांट किफायती, और व्यवहार्य होते हैं और पिछले 5 वर्षों से चलन में हैं। भारत में प्रतिदिन 10,000 सीबीएम से अधिक उत्पादन क्षमता है, जिसमें वुड और बगास दोनों शामिल हैं। कई बगास बेस्ड प्लांट के पास वुड बेस्ड बोर्ड बनाने का लाइसेंस और बुनियादी ढांचा भी है, लेकिन ऐसे कुछ ही हैं। घरेलू पार्टिकल बोर्ड मैन्यूफैक्चरिंग के अलावा, आयातित बोर्ड का मुख्य रूप से उच्च गुणवत्ता वाले बोर्ड में लगभग एक चैथाई हिस्सा है, जोकि बड़े और गुणवत्ता पूर्ण वाले फर्नीचर/ओईएम और किचेन ब्रांडों द्वारा उपयोग किया जाता है।

प्लाई रिपोर्टर के हालिया सर्वे से स्पष्ट रूप से संकेत मिलता है कि अच्छी गुणवत्ता वाले पार्टिकल बोर्ड की आपूर्ति में कमी के चलते, अभी तकरीबन 1000 सीबीएम प्रतिदिन अच्दी क्वालिटी के बोर्ड का बाजार हासिल कर सकता है। यह भी विश्लेषण किया गया है कि ग्रामीण आवास और कॉर्पोरेट ऑफिस सेगमेंट से आने वाली एक अच्छी मांग के कारण 2019 पार्टिकल बोर्ड उद्योग के लिए बढ़िया और बेहतर साबित हो सकता है। उद्योग के रुझान यह भी दर्शाते हैं कि उपयोगकर्ता अच्छी गुणवत्ता वाले पार्टिकल बोर्ड के लिए निरंतर-वास्तविक कीमत का भुगतान करने के लिए तैयार होते हैं क्योंकि उच्च गुणवत्ता वाले बोर्ड की मांग-आपूर्ति में काफी अंतर है, इसलिए उत्पादकों को प्राइस वॉर में जाने के बजाय गुणवत्ता पर ध्यान देना चाहिए, जो 2018 में पार्टिकल बोर्ड सेगमेंट में हुआ है।

अप्रैल का यह अंक पूरे वुड पैनल उद्योग और व्यापार के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसमें कई रिपोर्ट हैं जो वुड पैनल और प्लाइवुड सेगमेंट में ‘ऑर्डर और स्टॉक के कठिन समय में अस्तित्व बचाने के प्रति सजग रहने की ओर‘ इंगित करती हैं, जो वर्तमान वित्तीय वर्ष में आपकी पाॅलिसी को सही करने में मदद कर सकती हैं। शोध और विश्लेषण के आधार पर, प्लाई रिपोर्टर को 2019 में जनवरी से अप्रैल तक कई रिपोर्ट प्रकाशित की गई हैं, जो वर्ष 2019-20 में आपकी योजना बनाने के लिए सहायक साबित होंगे। इस अंक में श्री बी एल जैन का एक साक्षात्कार भी है, जो यूनिप्लाई को बेचने के 3 साल बाद पैनल बोर्ड्स के मैन्यूफैक्चरिंग में वापस लौटे हंै, और इनोवेटिव नेचुरल फाइबर बोर्ड मैन्यूफैक्चरिंग के साथ प्रवेश किए हैं। पीवीसी के बढ़ते उपयोग और बाजार पर इसके प्रभाव पर बहुत ही व्यावहारिक संक्षिप्त लेख है जो एचपीएल निर्माताओं और विक्रेताओं के लिए उपयोगी हो सकता है। इसके अलावा, हाल ही में आयोजित दिल्ली वुड प्रदर्शनी पर व्यापक रिपोर्ट के साथ वुड पैनल व्यापार के कई अन्य घटनाक्रम पर प्रकाशित की गई है।

सभी को वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अनेकों शुभकामनाएँ!

shareShare article

Post Your Comment