ब्रांडेड डब्ल्यूपीसी-पीवीसी बोर्ड की मांग में वृद्धि

person access_time   5 Min Read

क्वालिटी के लिए जाना जाने वाले नामी प्लेयर्स की स्वीकृति बढ़ने से पीवीसी और डब्ल्यूपीसी बोर्ड का बाजार परिपक्व होने लगा है। ब्रांडेड डब्ल्यूपीसी-पीवीसी बोर्ड का ग्रोथ धीरे धीरे डीलरों के सोच में बदलाव को दर्शाता है। ब्रांडेड पीवीसी और अनब्रांडेड पीवीसी बोर्ड के बीच किमतो का अंतर कम हो गया है जिससे बाजार में संगठित ब्रांडों को अपनी स्वीकृति और उपस्थिति को बढ़ाने में मदद मिल रही है।

ग्राहकों की पसंद और जीएसटी बिल से जुड़े मटेरियल अच्छी गुणवत्तापूर्ण उत्पादों के पक्ष में है, हालांकि यह नई शुरुआत है। बाजार की रिपोर्टों से पता चलता है कि अलस्टोन, अमूल्या और फ्लोरेस्टा जैसे ब्रांड दो साल के परेशानी के बाद, जब सस्ते गुणवत्ता वाले बोर्ड ने अपने कीमत के बल पर और किलो में बिकने की बजह से बाजार को अपने कब्जे में ले लिया था, एक बार फिर से नए मुकाम हासिल कर रहे हैं। ग्रीनप्लाई और सेंचुरी प्लाई
को भी ग्राहक पसंद करने लगे हैं जिसके कारण उन्हें भी फायदा हो रहा है। ऑस्टिन, ब्लैककोबरा, ई3 और एकॉन जैसे प्लेयर भी लगातार अपने इमेज और उत्पाद के घनत्व के कारण बाजार को अपने तरफ आकर्षित कर
रहे हैं। फर्नीचर बनाने के लिए 0.5 घनत्व वाले बोर्डों की स्वीकृति अच्छी है, जो सामान्य रूप से भारत के बाजार में अच्छे ब्रांडों द्वारा पेश की जाती है।

पीवीसी की तुलना में डब्ल्यूपीसी बोर्ड को भी अब व्यापकता प्राप्त होने लगी है क्योंकि हाई क्वालीटी ढूंढने वाले ग्राहक डिजाइनरों की सहमति से बेहतर उत्पाद के लिए डब्ल्यूपीसी खरीद रहे हैं। एनएफसी, रीलवुड, ऐसे ब्रांड हैं जो हाईइन्ड डब्ल्यूपीसी बाजार को ही टारगेट कर रहे हैं। ऐसे बोर्डों की कीमत 150 रुपये या इससे भी अधिक है, यही कारण है कि यह मुख्य रूप से प्रीमियम डीलरों द्वारा बेचा जा रहा है। सुपर-प्रीमियम डब्ल्यूपीसी बोर्ड
अपने बहुत ही प्रारंभिक चरण में है, जिसमें मुश्किल से दो मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी हैं। एलस्टोन जैसे शुरुआती ब्रांड जिसने पिछले 7 वर्षों में डब्ल्यूपीसी के बाजार को मजबूत किया है, को डब्ल्यूपीसी बेस्ड उत्पादों के विभिन्न अनुप्रयोगों के साथ उत्पाद की विविधता का फायदा मिल रहा है।
 

स्लो एक्सेप्टेन्स और विफलता के जोखिम के कारण हालाँकि बहुत कम कंपनियां पीवीसी बोर्ड के अलावा कोई अन्य उत्पाद जैसे डोरफ्रेम, प्रोफाइल, फ्लोरिंग, पैनलिंग सॉल्यूशन, एक्सटीरियर ग्रेड आदि का उत्पादन करती हैं, लेकिन पूरे देश में खासकर बोर्ड सेगमेंट में 100 से अधिक पीवीसी इकाइयां है। प्रतियोगिता भयावह स्तर तक पहुंच गई, जहां उत्पादक किलो के आधार पर बोर्ड बेच रही है, जो वास्तव में बदतर स्थिति पैदा करने में सहायक रही, साथ ही उत्पाद की छवि धूमिल हुई और उपयोगकर्ताओं ने इसे अनदेखा करना शुरू कर दिया। पिछले 2 साल विशेष रूप से गुणवत्ता में कमी कि वजह से डब्ल्यूपीसी बोर्ड की मांग में बदतर ग्रोथ देखा गया। अब उपयोगकर्ता सही डायरेक्शन के साथ गुणवत्तापूर्ण बोर्डों की आवश्यकता को समझने लगे हैं, जो वास्तव में पॉपुलर ब्रांडों को फायदा पहुंचा रहे हैं।

shareShare article

Post Your Comment