स्प्लाईस लेमिनेट डोर्स रीटेल मे लोकप्रिय हो रहा है

person access_time   2 Min Read 04 March 2024

देश में सबसे तेजी से बढ़ रहे बिजनेस सेक्टर इस बात के लिए तैयार है कि मैन्युफैक्चरर्स अपने ग्राहकों तक कैसे पहुंचे?

पछले दस वर्षों में, भारतीय लोगों ने सभी इंडस्ट्री रिटेलर्स और मैन्युफैक्चरर्स में तेजी देखी है। भारत में अब 12 मिलियन रिटेलर्स हैं, और कन्ज्युमर गुडस मार्केट सालाना 12 फीसदी से ग्रोथ कर रहा है। एक थिंक टैंक फॉरेस्टर रिसर्च के अनुसार, 2020 में, covid-19 के दौरान, बाजार का वैल्यू 883 बिलियन डॉलर था। फास्ट ट्रैक के अनुसार 2024 तक यह 1.3 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है।

लेकिन डिस्ट्रीब्यूटर मार्केट में भारी ग्रोथ से इसके बायर को क्या फायदा होगा? यूजर के लिए, रिटेल स्टोर खरीदारी में आसानी, नए प्रोडक्ट तक पहुंच और सपोर्ट प्रदान करते हैं। जब फायदे की बात आती है तो मैन्युफैक्चरर पीछे नहीं रहते हैं; वे इंक्रीज्ड विजिबिलिटी, कस्टमर फीडबैक और नए बाजारों तक पहुंच जैसे फायदे प्रदान करते हैं।

कंस्ट्रक्शन मटेरियल इंडस्ट्री में, लेमिनेट डोर आर्किटेक्ट्स का सबसे पसंदीदा चॉइस रहता हैं। डोर की बिक्री में पिछले कुछ सालों में ग्रोथ हुई है, क्योंकि रिटेलर्स ग्राहकों की पहली पसंद हैं।

पूरे देश में रिटेलर्स से मैन्युफैक्चरर्स को सहयोग मिल सकता है। लेमिनेट डोर के अग्रणी मैन्युफैक्चरर्स स्पलाईस रिटेलर्स के माध्यम से पूरे देश में प्रोडक्ट भेजती है।

अपने ग्राहकों के लिए, कंपनी डिस्ट्रीब्यूटर्स से अच्छे सौदे, कस्टमाइज के विकल्प और क्वालिटी प्रदान करती है। इसके अलावा, ग्राहक डोर के उपयोग और रखरखाव पर विशेषज्ञ सलाह प्राप्त करते हैं।

खरीदने के नए तरीके
मैन्युफैक्चरर्स से सीधे खरीदने कि तुलना में, स्प्लाइस के लोकल डिस्ट्रीब्यूटर और डीलर ग्राहकों को संतुष्टि प्रदान करते हैं। और भारत में घरों की संख्यां बढ़ने से, रिटेलर तेजी से डोर सोल्यूशन प्रदान करते हैं।

स्पलाईस की ओर से रिटेलर-फर्स्ट कि सोच से यह बदलाव देश में तेजी से बढ़ते बिजनेस को अपनाने के एक नए तरीके का प्रतीक है। यह बदलाव उनके मार्जिन को सुपरचार्ज करेगा और उन्हें ग्राहकों में अपनी पहचान बनाने में मदद कर सकता है।

You may also like to read

shareShare article
×
×