आलू से बनेगा एमडीएफ और पार्टिकल बोर्ड

person access_time   4 Min Read

चिप (एस) बोर्ड ने खाद्य पदार्थ के कचरे से एक नए उत्पाद का आविष्कार किया है। कम्पनी का दावा है कि इससे इसके हानिकारक पर्यावरणीय प्रभाव को कम किया जा सकता है। आलू के छिलकों से विकसित इस नए मटेरियल का उपयोग एमडीएफ और पार्टिकल बोर्डों जैसे पैनल बनाने में किया जा सकता है। एक अध्ययन के दौरान जब कंपनी के सह-संस्थापक श्री रोवन मिंकले और श्री रॉबर्ट निकोल लंदन में डिस्पोजेबल मटेरियल
के पर्यावरणीय प्रभावों पर कुछ काम कर रहे थे तो उन्हें इस नए उत्पाद का पता चला।

कुछ नया समाधान खोजने के लिए प्रेरित होकर उन्होंने एक नई सामग्री विकसित करने की सोची क्योंकि यदि इन खाद्य पदार्थों को डिस्पोजेबल तरीके से निपटान की जाती है तो वर्तमान में उत्पन्न बड़े पर्यावरणीय प्रभाव नहीं होंगे। इस खोज के लिए रॉयल अकादमी ऑफ इंजीनियरिंग एंटरप्राइज हब द्वारा मिंकले को यूनाइटेड किंगडम के ‘‘सबसे होनहार युवा इंजीनियरिंग उद्यमी‘‘ के रूप में चुना गया था, संसथान का उद्देश्य युवा लोगों को अपने स्वयं के इंजीनियरिंग व्यवसाय शुरू करने के लिए अधिक से अधिक प्रोत्साहित करना होता है।

इस उद्देश्य के लिए वे खाद्य के अपशिष्ट की समस्या पर ध्यान केंद्रित करना चाहते थे, क्योंकि सभी खाद्य पदार्थों में से एक तिहाई को फेंक दिया जाता है। निर्माताओं से पील को इकट्ठा करने के बाद, वे आलू के छिलके, बांस, रिसाइकल वुड या बीयर के हॉप्स को विभिन्न शोधन प्रक्रियाओं के माध्यम से एक बाइंडिंग एजेंट तैयार किया जिसे उनके फाइबर पर लगाए जा सकते हैं।

फिर इस नए उत्पाद का निर्माण करने के लिए कम्पोजिट को हीट प्रेसिंग कर बोर्ड के एक मजबूत शीट में बदल डाला गया, जैसा की एमडीएफ उत्पादन के दौरान किया जाता है। परिणाम स्वरुप औद्योगिक खाद्य प्रसंस्करण से बने अपशिष्ट आलू के छिलके से बना लकड़ी का एक टिकाऊ विकल्प प्राप्त हुआ। इस नए पदार्थ को विभिन्न उत्पादों जैसे की फर्नीचर और बिल्डिंग मटेरियल के रूप में तैयार किया जा सकता है।

इस विधि से निर्मित चिप पार्टिकलबोर्ड गुणवत्ता पूर्ण सरफेस फिनिश वाला एक टिनी ग्रेन रिजिड बोर्ड है जिसका उपयोग इंटीरियर डिजाइनिंग में विभिन्न उपयोगों के लिए किया जा सकता है। साथ ही इससे बानी चिप स्ट्रैंड बोर्ड एक स्मूथ सरफेस फिनिश और टेंसाइल स्ट्रेंथ वाला स्मूथ फाइबर बोर्ड है। नेचुरल पिग्मेंट की एक श्रृंखला में उपलब्ध, यह उत्पाद श्रम लागत और पर्यावरणीय प्रभावों को कम करने, के साथ साथ बार बार पेंटिंग या सीलिंग की जरूरतों को भी समाप्त करता है।

चिप (एस) बोर्ड इस तरह के उत्पाद विकसित करने वाले लीडिंग प्लेयर हैं। उनके द्वारा विकसित किया गया मटेरियल टिकाऊ, रिसाइक्लेबल और बायोडिग्रेडेबल होती है जिसमें कोई जहरीला रसायन नहीं होता हैं और इन्हें विशेष रूप से एक मजबूत सर्कुलर अर्थव्यवस्था तैयार करने के लिए डिजाइन किया गया है। तैयार उत्पादों में से कुछ मिल्क स्टूल, लैंप शेड और वाल मॉउंटिंग, के साथ साथ फर्नीचर और क्लोथिंग में भी उपयोग किया जा सकता है।

You may also like to read

shareShare article