एमडीएफ की मांग में सुधार से ग्रीनपैनल की बिक्री बढ़ाने में मिली मदद

person access_time   3 Min Read

कोविड के बाद हर महीने मांग में सुधार होने से ग्रीनपैनल इंडस्ट्रीज आने वाली तिमाही में बेहतर बिक्री और कारोबार की उम्मीद कर रही है। कंपनी ने पिछले वर्ष की तरह ही 15-16 फीसदी मार्जिन के साथ वर्तमान वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई से सितंबर 2020) में 192 करोड़ रुपये की बिक्री हासिल करने की उम्मीद जताई है।

रिपोर्ट के अनुसार, ग्रीन पैनल ने 51 करोड़ रुपये की बिक्री हासिल की है जबकि पिछले साल सामान अवधि में जून महीने में 57 करोड़ की बिक्री हुई थी और पिछले साल जुलाई में सुधार के साथ 66 करोड़ रुपये की बिक्री की तुलना में इस वर्ष जुलाई के महीने में 60 करोड़ रुपये था। ओईएम सेगमेंट में, कंपनी ने कीमतों में मामूली बढ़ोतरी की है और एमडीएफ पर रिकवरी प्लाइवुड की तुलना में बेहतर है।

हालांकि कंपनी हर महीने प्लाइवुड सेगमेंट में 16-17 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त करने की संभावना देखती है, लेकिन वित्त वर्ष 2021 में एमडीएफ से राजस्व में मामूली गिरावट की आशंका है।

ग्रीनपैनल इंडस्ट्रीज उत्तराखंड और आंध्र प्रदेश में मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी के साथ भारत में एमडीएफ का प्रमुख उत्पादक है। इनकी आंध्र प्रदेश स्थित एमडीएफ मैन्युफैक्चरिंग यूनिट भारत में सबसे बड़ी इकाई है। कंपनी अपनी ऑफरिंग में वैल्यू एडेड एमडीएफ प्रॉडक्ट्स जैसे लैमिनेटेड फ्लोरिंग, प्री-लैम बोर्ड्स, यूवी कोटेड पैनल्स आदि को भी शामिल करती है। ग्रीनपैनल अपने रुद्रपुर स्थित मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी में प्लाइवुड, डेकोरेटिव विनियर बनाती है।

You may also like to read

shareShare article