तकनीक से लेकर उत्पादन तक, पूरी तरह मेक इन इंडिया है हमारा बोर्ड . श्री बी एल बेंगानी, प्रबंध निदेशक, इंडोवुड एनएफसी

person access_time   4 Min Read

श्री बी एल बेंगानी, जिन्हें बी एल जैन के नाम से भी जाना जाता है, उन्होंने पैनल उद्योग में अच्छी वापसी की है। उन्होंने इंडोवुड ब्रांड के माध्यम से सफलता पूर्वक बाजार में एनएफसीः नेचुरल फाइबर कम्पोजिट पेश किया है और थोड़े समय में ही, देश के अधिकांश हिस्सों में इसके ट्रेड पार्टनर हैं। कुछ प्रमुख शहरों जैसे चेन्नई, हैदराबाद, एर्नाकुलम, बैंगलोर, मुंबई, नागपुर, रायपुर, भुवनेश्वर, सूरत, अहमदाबाद,वडोदरा, लखनऊ और कई अन्य स्थानों में इनकी पहुंच काफी अच्छी है।

जब हमने पिछली बार 2019 में श्री बेंगानी से बातचीत की थी, तो उन्होंने उत्पाद पेश किया था
और इसके बारे में विस्तार से समझाया था। उस समय उन्होंने यूनीप्लाई छोड़ने से लेकर नई पीढ़ी के उत्पाद पेश करने तक की, उनकी यात्रा पर खुलकर बात की थी। अब हम श्री बी एल बेंगानी (बीएलबी) और उनके बेटे, श्री वरुण बेंगानी (वीबी) के साथ इसउत्पाद, जो ‘‘इंडोवुड’’ ब्रांड टैग के साथ आते हैं, के बारे में और विस्तार से चर्चा कर रहे है। प्रस्तुत है उनसे बातचीत के प्रमुख अंश। 

प्र. आपने दूसरों से अलग उत्पाद क्यों चुना?

बीएलबीः यूनीप्लाई से बाहर आने के बाद, हम एक ऐसे उत्पाद पर काम कर रहे थे, जहां हम ट्रेड से जुड़ सकें। इस क्रम में हमें डब्ल्यूपीसी से परिचित कराया गया, जिसकी बाजार में काफी चर्चा, महत्व और जागरूकता हासिल थी। लेकिन जब डब्ल्यूपीसी के बारे में विस्तार से जाना तो पता चला कि इसके पीवीसी फोम बोर्ड की मैन्युफैक्चरिंग लगभग 500 किलोग्राम/सीबीएम के घनत्व में किया जाता है। हम दूसरों से कुछ अलग करना चाहते थे और उपभोक्ताओं तथा वुड पैनल इंडस्ट्री के लिए एक बेहतर उत्पाद बनाना चाहते थे। यहीं से एनएफसी - नेचुरल फाइबर कम्पोजिट का विचार आया और काम आगे बढ़ा।

प्र. मुझे याद है; पिछली बार आपने बताया था कि एनएफसी को सही से उत्पादित करने में लगभग 3 साल लग गए। आपको किन किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा?

बीएलबीः अधिकांश लोग पीवीसी फोम बोर्ड बनाते हैं। कुछ डब्ल्यूपीसी 2-25 पीएचआर के बीच वुड कंटेंट मिलकर बनाए जाते हैं। लेकिन, कोई भी प्राकृतिक रेशों के 100 पीएचआर से अधिक के कम्पोजिट बोर्ड नहीं बना सके। हमने ऐसा करने का लक्ष्य रखा था। मुझे लगता है कि दूसरों से अलग होना मेरा जुनून है। आम तौर पर उपलब्ध मोल्ड, एक्सट्रूडर 100 पीएचआर से अधिक का नेचुरल फाइबर स्वीकार नहीं करते हैं। इन प्रक्रियाओं में, हमें अपनी जरूरतों के हिसाब से मोल्ड और एक्सट्रूडर को संशोधित करना था और इसके लिए सही एडिटिव्स का चयन करना था। आरएंडडी के दौरान, हमने मोल्ड्स, स्क्रू और बैरल तक जला दिया। लेकिन आखिरकार, हम अपने लक्ष्य को हासिल करने में सफल रहे। इससे  हमें विजयी होने का अहसास हुआ। आखिरकार, यह हमारी अपनी प्रोप्राइटरी टेक्निक बन गई है!

प्र. क्या आप हमें मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस और एनएफसी बोर्ड बनाने में उपयोग होने वाले कच्चे माल के बारे में बता सकते हैं?

वीबीः इंडोवुड एनएफसी मुख्य रूप से कृषि अवशेषों (110 पीएचआर) का उपयोग करके बनाया गया, एक जीरो वुड बोर्ड है। इसका निर्माण पूरी तरह से स्वचालित हाई-स्पीड; हीटर-कूलर मिक्सर मशीन की मदद से कृषि-अवशेषों, खनिजों, एडिटिव्स और पीवीसी रेजिन का उपयोग कर एक मैट्रिक्स बनाकर किया जाता है, उसके बाद इस कंपाउंड मैट्रिक्स को बाहर निकाला जाता है। प्रत्येक शीट की सरफेस प्रोसेसिंग की जाती है जहां बोर्ड की खुरदरी सतह को कैलिब्रेट किया जाता हैं।

हमारा उत्पाद सीसा रहित है और किसी भी खतरनाक सामग्री से मुक्त है। हम भारत में उन कुछ कंपनियों में से हैं जिनका उत्पाद त्वभ्ै (रिस्ट्रिक्शन ऑफ़ हजार्डस सब्स्टांस) प्रमाणित है। हम सभी के लिए स्वच्छ और ग्रीन वर्किंग एन्वायरॅंनमेंट सुनिश्चित करते हैं। पूरी निर्माण प्रक्रिया हमारे ल्वनजनइम चैनल पर देखी जा सकती है।

प्र. एनएफसी के क्या फायदे हैं और यह किन किन उत्पादों से प्रतिस्पर्धा करता है?

वीबीः इंडोवुड एनएफसी पूरी तरह से टरमाइट प्रूफ, वाटर प्रूफ, फायर और स्मोक रिटारडेंट भी है। यह ।ैज्ड म्84 के अनुसार क्लास 1/ा फायर रेटिंग पास है। हमारे उत्पाद की एकॉस्टिक
प्रॉपर्टी भी अच्छी हैं और इसे किसी भी आकार और डिजाइन के लिए थर्मोफॉर्म किया जा सकता है। मैं उन उत्पादों के बारे में टिप्पणी नहीं करूंगा जिनके साथ एनएफसी प्रतिस्पर्धा करता है, बल्कि मैं इसकी ताकत और इसके द्वारा प्रदान किए जाने वाले सॉलूशन पर प्रकाश डालूंगा। उदाहरण के लिए, सभी उत्पाद टरमाइट प्रूफ या वाटरप्रूफ नहीं
 हैं। तो ऐसी जगहों पर जहां प्लाईुड/वुड विफल हो जाती है या टरमाइट से प्रभावित हो जाती है, इंडोवुड एनएफसी जीवनभरसुरक्षित रहेगा। इसी तरह, कोई वुड बेस्ड पैनल थर्मोफॉर्मेबल नहीं होते हैं, इसलिए इसके साथ आर्किटेक्ट और डिजाइनरों को नए डिजाइनों के बारे में सोचने की काफी सहूलियत होती है क्योंकि बोर्ड को इच्छा अनुसार घुमाया या गोल आकार दिया जा सकता है। एक्सटीरियर के लिए, हमारा उत्पाद काफी उपयुक्त है इसलिए इसका उपयोग बड़े पैमाने पर फसाड, एलिवेशन, टैरेस फ़र्नीचर, सीसाइड/पूलसाइड या गार्डन फ़र्नीचर जैसे अनुप्रयोगों के लिए किया जाता है। इंडोवुड एनएफसी एंटी-फंगस और एंटी-बैक्टीरियल गुणों के साथ भी आता है जो यह सुनिश्चित करता हैं कि घर सुरक्षित है। हमारे बोर्ड फॉर्मल्डिहाइड और अन्य वीओसी उत्सर्जन से भी मुक्त हैं। आखिरकार, अब कोविड 19 के बाद स्वस्थ जीवन शैली लोगों की प्राथमिकता है।

प्र. क्या आप ग्रीनप्रो इको-लेबल के बारे में और विस्तार से बता सकते हैं?

वीबीः इंडोवुड एनएफसी भी सीआईआई द्वारा ग्रीनप्रो प्रमाणित है। इसलिए यह सभी ग्रीन प्रोजेक्ट्स या जहां आईजीबीसी/लीड्स रेटिंग की जरूरत होती है, उनके लिए एकदम फिट है। इसी तरह, अच्छे आर्किटेक्ट और डिजाइनर टिकाऊ उत्पादों की हमेशा तलाश करते हैं। आईजीबीसी, जहां विभिन्न कंपनियों को सदस्यता दी जाती है, के विपरीत ग्रीनप्रो किसी खास उत्पाद के लिए प्रमाणित होता है। ग्रीनप्रो के लिए सीआईआई कॉसिल कच्चे माल की सोर्सिंग, ऊर्जा खपत, पानी की खपत और संरक्षण आदि के लिए जलाए गए कार्बन फुटपिं्रट जैसे छोटे छोटे डिटेल को भी ध्यान में रखती है। यह एक व्यापक प्रक्रिया है।

तकनीक विकसित करने से लेकर फाइनल बोर्ड बनाने तक हमारा उत्पाद 100 फीसदी मेड इन इंडिया है। इंडोवुड एनएफसी की भौतिक/यांत्रिक गुण जैसे घनत्व, स्क्रू होलिं्डग इसके जैसे अन्य उत्पादों की तुलना में बहुत अधिक है। इसमें एंटी-रॉडेंट, एंटी-फंगस, स्मोक सप्रेसेंट फीचर्स जैसे फायदे भी जोड़े गए हैं जो आमतौर पर अन्य उत्पादों में उपलब्ध नहीं हो सकतें। हमारे उत्पाद में फाइबर कंटेंट 110 फीसदी या 110 पीएचआर है। इंडोवुड एनएफसी मुख्य रूप से कृषि अवशेषों (110 पीएचआर) का करके बनाया गया, एक जीरो वुड बोर्ड है। इसका निर्माण पूरी तरह से स्वचालित हाई-स्पीड; हीटर-कूलर मिक्सर मशीन की मदद से कृषि-अवशेषों, खनिजों, एडिटिव्स और पीवीसी रेजिन का उपयोग कर एक मैट्रिक्स बनाकर किया जाता है, उसके बाद इस कंपाउंड मैट्रिक्स को बाहर निकाला जाता है। प्रत्येक शीट की सरफेस प्रोसेसिंग की जाती है जहां बोर्ड की खुरदरी सतह को कैलिब्रेट किया जाता हैं।

प्र. इंडोवुड एनएफसी आपके जैसा अन्य उत्पादों से किस प्रकार भिन्न है?

बीएलबीः तकनीक विकसित करने से लेकर फाइनल बोर्ड बनाने तक हमारा उत्पाद 100 फीसदी मेड इन इंडिया है। इंडोवुड एनएफसी की भौतिक/यांत्रिक गुण जैसे घनत्व, स्क्रू होलिं्डग इसके जैसे अन्य उत्पादों की तुलना में बहुत अधिक है। इसमें एंटी-रॉडेंट, एंटी-फंगस, स्मोक सप्रेसेंट फीचर्स जैसे फायदे भी जोड़े गए हैं जो आमतौर पर अन्य उत्पादों में उपलब्ध नहीं हो सकतें। हमारे उत्पाद में फाइबर कंटेंट 110 फीसदी या 110 पीएचआर है। हमारे उत्पाद की सभी विशेषताओं और फायदे का उल्लेख हमारी वेबसाइट और ब्रोशर पर काफी विस्तार से किया गया है।

प्र. कोविड 19 ने आपके व्यवसाय को कैसे प्रभावित किया?

बीएलबीः और सभी लोगों के जैसा, कोविड 19 ने हमारे व्यवसाय और हमारी भविष्य की विस्तार योजनाओं को भी प्रभावित किया है। लेकिन फिर भी, हमें आगे बढ़ना होगा। मूल रूप से कच्चे माल की कीमतें दोगुनी हो गई हैं जबकि हम जिस एडिटिव्स का उपयोग करते हैं उनमें लगभग 60-70 फीसदी की वृद्धि हुई है।इससे उत्पाद की लागत भी बढ़ गई है। हमें उम्मीद है कि स्थिति जल्द ही सामान्य हो जाएगी।

प्र. आपकी भविष्य की विस्तार योजनाएं क्या हैं?

बीएलबीः न केवल बोर्ड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के रूप में रहने के बजाय हमारा लक्ष्य प्रोडक्ट पोर्टफोलियो को बढ़ाना है। रवींद्रनाथ टैगोर का यह कथन: मुझे सोने से पहले मीलों रास्ता तय करना है! से प्रेरित अंततः हम डोर, डोर फ्रेम, प्रोफाइल, डेकिंग और क्लैडिंग मैन्युफैक्चरिंग में भी प्रवेश करेंगे।

You may also like to read

shareShare article
×
×