बर्मा और लाओस से फेस विनियर की आवक बढ़ने की सम्भावना

person access_time   4 Min Read

गर्जन फेस विनियर प्रेमियों के लिए खुशखबरी है, क्योंकि बर्मा से खबर है कि नई निलामी में पिछले साल की तुलना में गर्जन टिम्बर के दाम आधे से भी कम हो गए हैं। कई टिम्बर ट्रेडर्स और बर्मा स्थित फेस विनियर उत्पादकों से मिली रिपोर्ट के अनुसार अच्छी गुणवत्ता वाले गर्जन लॉग की पर्याप्त स्टॉक निलामी के लिए मौजूद है और कीमतें भी पिछले साल के मुकाबले आधे तक नीचे आ गई हैं, इसलिए उन्हें उम्मीद है कि गर्जन फेस विनियर की आपूर्ति से भारतीय प्लाइवुड उत्पादकों को 2020 में पुनः मूल्य में सुधार देखने को मिलेगा।

सेंचुरीप्लाई के चेयरमैन श्री सज्जन भजंका ने कहा कि एक चीज अच्छी है कि बर्मा में उठान है, इसलिए पिछले साल की तुलना में बर्मा में गर्जन की कीमत 50 फीसदी से भी कम हो गई है, हमलोग 1200 डॉलर की नीलामी में लकड़ी खरीद रहे थे, जो अब 600 डालर से नीचे है, इसलिए यह फिर से व्यवहार्य हो रहा है और हमने हाल ही में की गई नीलामी में बहुत सारी लकड़ी खरीद ली है और हम म्यांमार में अपनी पीलिंग क्षमता को बढ़ा रहे हैं, इसलिए मुझे लगता है कि एक बार फिर म्यांमार से फेस विनियर की सप्लाई बेहतर होगी।

लाओस से भी बताया गया है कि सरकार देश से विनियर के निर्यात के मानदंडों को आसान बनाने के लिए तैयार है। सरकार ने, हाल ही में विनियर मिलों के मालिकों से संपर्क किया था, और कहा कि अगर वे अपने प्लाइवुड निर्माण के साथ पीलिंग मशीनें इनस्टॉल करते हैं, तो उन्हें भी विनियर के निर्यात की अनुमति दें सकते हैं। सरकार का कहना है कि उनके पास नीलामी के लिए पर्याप्त मात्रा में गर्जन टिम्बर उपलब्ध हैं क्योंकि वे हाइडल बिजली उत्पादन संयंत्रों के लिए पेड़ काट रहे हैं। लाओस सरकार चाहती है कि देश में अपना विनियर पीलिंग का काम करने वाली कंपनियों को प्लाइवुड निर्माण के साथ फिर से अपना परिचालन शुरू करना चाहिए, और सरकार उन्हें प्लाइवुड के साथ-साथ फेस विनियर निर्यात की भी अनुमति देगी।

shareShare article

Post Your Comment